खुसखबरी : किसानो का फसल नुकसान होने पर मिलेगा सीधे मुआवजा, जाने क्या है प्रक्रिया | Fasal Muavja Kaise Kare

खुसखबरी : किसानो का फसल नुकसान होने पर मिलेगा सीधे मुआवजा, जाने क्या है प्रक्रिया | Fasal Muavja Kaise Kare

Fasal Muavja - नमस्कार प्यारे किसान भाई, कृषि मंत्री बादल पाटिल ने किसान सम्मान समारोह में भाग लिया, जिसमें उन्होंने कहा कि झारखंड सरकार जल्द ही राज्य के किसानों के लिए एक विशेष नीति तैयार करेगी इसकी शुरुआत खूंटी जिले से होगी, जिसके बाद पूरे राज्य का गठन किया जाएगा। इस बीच, कृषि मंत्री ने कहा है कि फसलों के नुकसान के मामले में, किसानों के खाते में सीधे मुआवजा दिया जाएगा। साथ ही जैविक खेती को बढ़ावा देने की बात कही है।

Fasal Muavja Kaise Kare
 Fasal Muavja Kaise Kare

इसके अलावा, झारखंड के बादल पतरालेख (कृषि मंत्री बादल पाटिल) ने कहा कि जब किसान फसल का अधिक उत्पादन करते हैं, तो उन्हें बाजार में फसल का सही मूल्य नहीं मिलता है, इसलिए फसल को कम कीमतों पर बेचना पड़ता है। लेकिन अब झारखंड के किसानों की यह समस्या दूर हो जाएगी। कृषि मंत्री ने कहा कि झारखंड सरकार किसानों की इस समस्या को हल करने की तैयारी कर रही है।


कृषि मंत्री ने कहा कि खूंटी में सबसे ज्यादा उत्सुक किसान हैं, इसलिए नई नीतियों को यहां से लागू किया जाएगा। पूरा राज्य इसका पालन करेगा। इस बीच, कृषि मंत्री ने पिछली सरकार पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि राज्य की पिछली सरकार में किसानों को फसल बीमा मिला था, जिसे 3 साल बीत चुके हैं, लेकिन अभी तक किसानों को कोई लाभ नहीं दिया गया है। बीमा कंपनियों को 482 करोड़ रुपये दिए गए, जिसके बदले किसानों को केवल 79 करोड़ रुपये मिले। इस वजह से अब झारखंड सरकार फसलों के नुकसान के मामले में किसानों को सीधा मुआवजा देगी। साथ ही जैविक खेती को बढ़ावा देंगे।


किसानों के लिए अब तक 39 सिंचाई कुओं, 2 चेक बांधों, 37 तालाबों का निर्माण किया गया है। इसके अलावा, 28 लिफ्ट सिंचाई सुविधाएं, 79 पंप सेट किसानों को प्रदान किए गए हैं, जबकि लगभग 1147 एकड़ भूमि को खेती योग्य बनाया गया है। बता दें कि किसान सम्मान समारोह में कृषि से जुड़े कई स्टॉल भी लगाए गए थे। इस अवसर पर कृषि मंत्री के साथ, जयंतो चौधरी, अजय कुमार दुबे, अमित कुमार महतो, अमित शेखर, विकास गुप्ता, कांग्रेस जिलाध्यक्ष रामकृष्ण चौधरी, पूर्व विधायक कालीचरण मुंडा, नईमुद्दीन खान और कई अन्य प्रमुख लोग उपस्थित थे।

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

और नया पुराने

खेती बाड़ी और सरकारी योजनाओ की जानकारी के लिए Telegram चैनल पर जुड़े